पंकजा मुंडे ने पलटी भाई धनंजय मुंडे की बाजी !

Download PDF
– रमेश कराड ने वापस लिया नामांकन,  अशोक जगदाले एनसीपी के नए उम्मीदवार –
मुंबई। विधान परिषद की लातूर-उस्मानाबाद-बीड सीट का चुनाव रंगतदार हो गया है। महिला एवं बाल कल्याण मंत्री पंकजा मुंडे पालवे ने एेन मौके पर अपने चचेरे भाई और नेता प्रतिपक्ष धनंजय मुंडे की बाजी पलटकर एनसीपी खेमे में हलचल मचा दी है। एनसीपी उम्मीदवार रमेश कराड ने अपना नामांकन वापस ले लिया है। हालांकि एनसीपी ने ताबड़तोड़ इस सीट से अशोक जगदाले की उम्मीदवारी घोषित करके, मामले को संभालने की कोशिश की है।
रमेश कराड को पंकजा अपना मुंह बोला भाई मानती थी। रमेश कराड की बगावत से दुखी पंकजा ने कहा था कि वह भविष्य में किसी को अपना भाई नहीं बनाएंगी। रमेश की दगाबाजी से वे बेहद दुखी हैं। हालांकि सोमवार को नामांकन वापस लेने की आखिरी तारीख को पंकजा ने धनंजय मुंडे की पूरी बाजी ही पलट दी। रमेश कराड ने अपना पर्चा वापस ले लिया। यह खबर फैलते ही एनसीपी खेमे में हलचल मच गई।
एनसीपी से बगावत कर भाजपा में शामिल हुए सुरेश धस को भाजपा ने लातूर-उस्मानाबाद-बीड सीट से मैदान में उतारा है। इधर धनंजय मुंडे ने बड़ा उलटफेर करते हुए पंकजा के बेहद करीबी रमेश कराड को एनसीपी के पाले में लाकर भाजपा को करारा जवाब दिया। एनसीपी कोटे से रमेश कराड ने नामांकन दाखिल किया था। रमेश कराड को पंकजा अपना मुंह बोला भाई मानती थी। रमेश कराड की बगावत से दुखी पंकजा ने कहा था कि वह भविष्य में किसी को अपना भाई नहीं बनाएंगी। रमेश की दगाबाजी से वे बेहद दुखी हैं। हालांकि सोमवार को नामांकन वापस लेने की आखिरी तारीख को पंकजा ने धनंजय मुंडे की पूरी बाजी ही पलट दी। रमेश कराड ने अपना पर्चा वापस ले लिया। यह खबर फैलते ही एनसीपी खेमे में हलचल मच गई। आखिरकार आनन-फानन में लातूर-उस्मानाबाद-बीड सीट से अशोक जगदाले को पार्टी का अधिकृत उम्मीदवार घोषित किया गया। एनसीपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता नवाब मलिक ने जगदाले के नाम की घोषणा की। एनसीपी ने डमी उम्मीदवार के तौर पर जगदाले का नामांकन भरा रखा था। विधान परिषद की स्थानीय निकाय की रिक्त हो रही रायगड-रत्नागिरी-सिंधुदुर्ग, नाशिक, उस्मानाबाद-लातूर-बीड परभणी-हिंगोली, अमरावती और चंद्रपुर, इन छह सीटों पर आगामी 21 मई को चुनाव होने जा रहा है।
विधान परिषद में विपक्ष के नेता धनंजय मुंडे ने कहा है असली झटका तो चुनावी नतीजे घोषित होने के दिन लगेगा। रमेश कराड के नामांकन वापस लेने से हमें कोई फर्क नहीं पड़ता। मुंडे के मुताबिक रमेश कराड ने नामांकन क्यों वापस लिया, इसका जवाब खुद कराड ही दे सकते हैं। मेरे लिए चुनाव जीतना प्रतिष्ठाभरा है। हम चुनाव जीतेंगे। धनंजय ने कहा कि इस सीट के चुनावी समीकरण पर गौर करें, तो हमें पूरा विश्वास है एनसीपी का उम्मीदवार ही जीतेगा। खुद उम्मीदवारी मांगना और खुद ही पर्चा वापस ले लेना, क्या पहले दिन से साजिश चल रही थी। इस संबंध में मैं अभी कुछ नहीं बोलूंगा। असली झटका तो चुनावी नतीजे घोषित होने के बाद लगेगा।
Download PDF

Related Post