तेल के वैट में कटौती, 5 रुपए सस्ता होगा पेट्रोल

Download PDF

मुंबई- पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर केंद्र सरकार द्वारा एक्साइज ड्यूटी घटाने के ऐलान के तुरंत बाद महाराष्ट्र सरकार ने भी तेल की कीमतों से ढाई रुपए वैट कम करने की घोषणा की है। महाराष्‍ट्र समेत गुजरात, छत्‍तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, त्रिपुरा, असम और झारखंड सहित ग्यारह भाजपा शासित राज्यों ने तेल के वैट में 2.5 रुपए की कमी का ऐलान किया है। इससे पेट्रोल 5 रुपए और डीजल की कीमत में ढाई रुपए तक की गिरावट आएगी। हालांकि विपक्ष ने इसे जनता की आखों में धूल झोंकना बताया है।

भाजपा शासित राज्यों में वैट में कटौती का एेलान,  विपक्ष बोला  जख्म देने के बाद अब ‘बैंड-एड’ लगाया 

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने गुरुवार को राज्य में वैट कम करने की घोषणा की।  हालांकि विपक्षी दल राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने इस पर कड़ा एेतराज जताते हुए कहा है कि सरकार जनता की आंखों में धूल झोंक रही है। हजारों जख्म देने के बाद अब मोदी सरकार ने ‘बैंड-एड’ लगाया है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री फडणवीस के मुताबिक अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें बढ़ रही हैं, जिसके चलते दुनिया भर में ईंधन की दरों में लगातार वृद्रधि हो रही है। इसका प्रतिकूल परिणाम देश की जनता पर न पड़े, इसलिए केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल के वैट पर प्रति लीटर डेढ़ रुपए कम करने की घोषणा की है। केंद्र सरकार के अनुरोध पर महाराष्ट्र ने अपने हिस्से के वैट में ढाई रुपए की कटौती की है। इससे जनता को राहत मिलेगी। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली का आभार माना है।
इधर विपक्षी दलों ने सरकार की आलोचना की है। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि मोदी सरकार ने ‘हजारों घाव’ देने के बाद अब ‘बैंड-एड’ लगाया है। कांग्रेस का दावा है कि जनता की भारी नाराजगी और आगामी विधानसभा चुनाव में ‘हार तय’ देकर मोदी सरकार ने यह कदम उठाया है। एनसीपी प्रवक्ता नवाब मलिक मुताबिक आघाडी सरकार के कार्यकाल में पेट्रोल पर 9 रुपए एक्साइज ड्यूटी थी, जिसे बढ़ाकर महायुति सरकार ने 19.48 रुपए कर दिया। इसीतरह डीजल पर 3 रुपए एक्साइज ड्यूटी को बढ़ाकर 15.33 रुपए कर दिया गया। यदि राज्य सरकार को जनता को राहत देनी है तो एक्साइज ड्यूटी फिर उसी दर पर की जाए। मलिक ने कहा कि राज्य सरकार का यह निर्णय आंखों में धूल झोंकने जैसा है। वैट कम करना है तो सरकार दारू पर भी लगे अतिरिक्त कर को कम करके दिखाए।
दूसरी ओर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि यह निर्णय मोदी सरकार की देश की जनता के हितों के प्रति संवेदनशीलता को दर्शाता है। शाह ने ट्वीट किया,‘मोदी सरकार द्वारा पेट्रोल और डीजल के दाम 2 .5 रुपए कम करने के निर्णय का मैं स्वागत करता हूं। उन्होंने कहा कि यह फैसला प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार की देश की जनता के हितों के प्रति संवेदनशीलता को दर्शता है।
केंद्रीय वित्त मंत्री जेटली ने तेल की कीमतों से डेढ़ रुपए एक्साइज ड्यूटी कम करने की घोषणा की। साथ ही उन्होंने बताया कि तेल कंपनियां भी तेल के दामों में एक रुपए की कटौती करेंगी। केंद्र सरकार ने राज्यों से भी तेल के दामों से वैट कम करने का अनुरोध किया।  केंद्र सरकार की घोषणा के फौरन बाद महाराष्ट्र और गुजरात सरकार ने पेट्रोल-डीजल से 2.5 रुपए वैट कम करने का ऐलान कर दिया। राज्य सरकारों के इस कदम से दोनों ही राज्यों में तेल की कीमतों में कमी आएगी।
Download PDF

Related Post