दलित लड़कों की पिटाई के मामले ने तूल पकड़ा

Download PDF
मुंबई- जलगांव में कुएं नहाने के कारण दो दलित लड़कों की पिटाई के मामले ने तूल पकड़ लिया है। विपक्ष ने आरोप लगाया है भाजपा सरकार में दलितों पर अत्याचार बढ़ा है। दलित, अल्पसंख्यक और आदिवासी समाज सुरक्षित नहीं है। जलगांव की घटना से राज्य की गरिमा कलंकित हुई है। कांग्रेस ने चेतावनी दी है जब तक पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिल जाता, कांग्रेस की लड़ाई जारी रहेगी।
कांग्रेस प्रवक्ता राजू वाघमारे ने परिजनों को हरसंभव मदद दिलाने का आश्वासन दिया है। सत्तार ने मामले की फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई करके जल्द से जल्द दोषियों को सजा देने की मांग की है। कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया कि सत्ता पक्ष भाजपा मामले को दबाने की कोशिश कर रही है। पीड़ित परिवार दबाव के कारण दहशत में हैं।
पूर्व मंत्री अब्बदुल सत्तार के नेतृत्व में एक शिष्टमंडल ने जलगांव के वाकडी गांव जाकर पीड़ित लड़कों और उनके परिजनों से मुलाकात की। कांग्रेस प्रवक्ता राजू वाघमारे ने परिजनों को हरसंभव मदद दिलाने का आश्वासन दिया है। सत्तार ने मामले की फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई करके जल्द से जल्द दोषियों को सजा देने की मांग की है। कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया कि सत्ता पक्ष भाजपा मामले को दबाने की कोशिश कर रही है। पीड़ित परिवार दबाव के कारण दहशत में हैं। भाजपा सरकार दलितों पर होनेवाले अत्याचार को रोक पाने में असफल हो रही है। कांग्रेसी नेताओं ने पुलिस अधिकारियों से मुलाकात करके दोषी पर कार्रवाई करने की मांग की। इस प्रतिनिधिमंडल में रमेश बागवे, उल्हास पाटिल, शिरीष चौधरी, संदीप पाटिल आदि शामिल थे।
कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अशोक चव्हाण ने कहा है भाजपा सरकार जब सत्ता में आई है। दलितों, अल्पसंख्यकों और आदिवासी समाज पर होनेवाले अत्याचारों में वृद्धि हुई है। चव्हाण के मुताबिक गुजरात के उना में दलितों की पिटाई, रोहित वेमुला मामला और दलितों के घोड़े पर चढ़ने पर पिटाई जैसे कई मामले सामने आए हैं। दुर्भाग्य है सरकार दोषियों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। विधान परिषद में विपक्ष के नेता धनंजय मुंडे ने भी घटना को लेकर कड़ी नाराजगी जताई है। मुंडे ने कहा कि इस घटना से राज्य की गरिमा कलंकित हुई है। दलित बच्चों की पिटाई से शाहु, फुले और आंबेडकर द्वारा समाज के लिए दिए गए योगदान को धक्का लगा है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार के कार्यशैली से जातिवादी शक्तियों को बढ़ावा मिला है। केंद्रीय सामाजिक न्याय राज्यमंत्री रामदास आठवले ने भी वाकडी गांव जाकर पीड़ित परिवार से मुलाकात की। उन्होंने घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बाताया है। परिवार का हाल जानने प्रदेश के जल संसाधन मंत्री गिरीश महाजन भी वाकडी गांव पहुंचे थे।
Download PDF

Related Post