राष्ट्रपति कोविंद ने किया रमाबाई के पुतले का अनावरण

Download PDF

मुंबई- राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को पुणे में  रमाबाई आंबेडकर  के पुतले का अनवारण किया। राष्ट्रपति ने कहा कि  मातोश्री रमाबाई भीमराव आंबेडकर के जीवन से प्रत्येक भारतीय महिला को प्रेरणा लेनी चाहिए।

राष्ट्रपति ने 134 वीं बटालियन कैडेट कैप्टन अक्षत राज को गोल्ड मेडल, कैडेट कैप्टन मोहम्मद सोहेल अस्लमला को सिल्वर मेडल, कैप्टन अली अहमद चौधरी को ब्रांज मेडल से सम्मानित किया। पुणे मनपा के अधीन मातोश्री रमाबाई आंबेडकर उद्यान में मातोश्री रमाबाई आंबेडकर के पुतले के निर्माण किया गया है।

राष्ट्रपति ने पुणे के  नेशनल डिफेन्स अकादमी (एनडीए) के 134 वीं बटालियन के दीक्षांत समारोह में भी हिस्सा लिया।यह कार्यक्रम पुणे के  खडकवासला के खेत्रपाल ग्राऊंड पर आयोजित किया गया था। राष्ट्रपति ने 134 वीं बटालियन कैडेट कैप्टन अक्षत राज को गोल्ड मेडल, कैडेट कैप्टन मोहम्मद सोहेल अस्लमला को सिल्वर मेडल, कैप्टन अली अहमद चौधरी को ब्रांज मेडल से सम्मानित किया। पुणे मनपा के अधीन मातोश्री रमाबाई आंबेडकर उद्यान में मातोश्री रमाबाई आंबेडकर के पुतले के निर्माण किया गया है। इस पतले का अनावरण करने राष्ट्रपति मंगलवार को ही पहुंच गए थे। इस कार्यक्रम में राज्यपाल सी. विद्यासागर राव, केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावडेकर, सामाजिक न्याय राज्यमंत्री रामदास आठवले, पालकमंत्री गिरीश बापट, राज्यमंत्री दिलीप कांबले, राज्यमंत्री विजय शिवतारे, महापौर मुक्ता तिलक, उपमहापौर सिध्दार्थ धेंडे, श्रीनाथ भीमाले आदि उपस्थित थे। मातोश्री रमाई आंबेडकर उद्यान में रमामाई का लगभग साढ़े नौ फुट उंचा पुतला बनाया गया है। पुतले का निर्माण गनमेटल से किया गया है। महाराष्ट्र कला निदेशालय की ओर से पुतले को एनओसी मिल गई थी।

राष्ट्रपति ने कहा कि बाबासाहेब आंबेडकर के जीवन मेें रमाबाई का अतुलनीय योगदान था। रमाबाई द्वारा किया गया त्याग, उनका बाबासाहेब आंबेडकर को दिया गया साथ, प्रेरणा और उनके संघर्ष में दिया गया आधार बेहद प्रशंसनीय है। डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर को विश्वविख्यात बनाने में रमाबाई आंबेडकर की निर्णायक हिस्सेदारी रही है।राष्ट्रपति  ने कहा कि डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर का रमाबाई पर अतिशय प्रेम था। उन्होंने अपनी ‘थॉट्स ऑन पाकिस्तान’ पुस्तक भी रमाबाई को अर्पित की थी। इस पुस्तक के अर्पण पत्रिका से उनके रमाबाई के प्रति प्रेम की अनुभूति होती है। बाबासाहेब आंबेडकर ने हिंदू कोड बिल पेश कर महिलाओं को अधिकार दिलाने का प्रयास किया। उन्होंने हमेशा महिलाओं के अधिकार और सशक्तिकरण का विचार रखा। उनके विचार के पीछे मातोश्री रमाबाई की प्रेरणा थी। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर, राज्यमंत्री रामदास आठवले ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

राष्ट्रपति ने एनडीए कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि 60 से अधिक वर्षों का इतिहास प्राप्त और देश के लिए एक से बढ़कर एक अधिकारी देनेवाली एनडीए जैसी संस्था से डिग्री प्राप्त करना स्नातकों के लिए गर्व की बात है। किसी भी दल के वर्दी में सैनिक सम्पूर्ण देश का गर्व है। सैनिकों को हर स्थान पर सम्मान मिलता है। देश की सीमा सुरक्षित करने के साथ ही प्राकृतिक आपदाओं के समय सैनिकों का साहस अद्वितीय होता है। सैनिक केवल शत्रुओं का सामना ही नहीं करते बल्कि  सियाचीन, लद्दाख जैसे क्षेत्रो में प्रकृति के प्रकोप का भी मुकाबला करना पड़ता है। सभी आपदाओं का सामना कर देश की रक्षा करनेवाले सैनिकों का सभी को गर्व है।  इस अवसर पर चेतक हेलिकॉप्टर से ध्वज सलामी दी गई। सुखोई हवाईजहाज के प्लाटून ने आकाश में बेहद रोचक प्रदर्शन किया।

Download PDF

Related Post