यूपीए सरकार में हुआ था रिलायंस का करार, राफेल डील पर बोले गडकरी 

Download PDF
मुंबई ।  राफेल डील को लेकर लगातार विपक्षी पार्टियों के आरोपों का सामना कर रही भाजपा ने जवाबी हमला बोलने का फैसला किया है। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने पार्टी कार्यकर्ताओं को विरोधियों के आरोपों का जवाब आक्रामकता के साथ देने का गुरुमंत्र दिया है। गडकरी ने कहा रिलायंस कंपनी से करार यूपीए सरकार के कार्यकाल में ही किया गया था। विमान बनानेवाली संबंधित कंपनी ने स्पेयर पार्ट के लिए रिलायंस सहित 22 कंपनियों से समझौता किया है। 

भाजपा ने जवाबी हमला बोलने का फैसला किया

भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक को संबोधित करते हुए गडकरी ने विपक्ष पर तीखे तंज कसे। बैठक में मुख्यमंत्री देवंद्र फडणवीस, राष्ट्रीय संगठन मंत्री वी. सतीश, वित्त मंत्री सुधीरमुनगंटीवार सहित पार्टी के अन्य बड़े नेता शामिल थे। गडकरी ने कहा कि राफेल विमान खरीदी को लेकर कांग्रेस आरोप लगा रही है। परंतु रिलायंस के साथ  राफेल विमान बनानेवाली कंपनी के साथ करार कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में ही किया गया था। संबंधित कपंनी ने स्पेयर पार्ट के लिए रिलायंस सहित 22 कंपनियों से करार किया है।  उन करारों से भाजपा सरकार का कोई संबंध नहीं हैं। मोदी सरकार के कारण लड़ाकू विमान 40 फीसदी सस्ता मिला है। राफेल डील की पूरी जानकारी लेकर भाजपा कार्यकर्ता आक्रामकता के साथ विपक्ष के आरोपों को झूठा साबित कर दें।
गडकरी ने कहा कि पार्टी कार्यकर्ता जनता को गुमराह करनेवाले विरोधियों की कोशिशों को नाकाम कर दें। गडकरी ने कहा कि भाजपा सरकार के कारण देश बदल रहा है। विकास के कामों को देखकर विपक्षी पार्टियां सहन नहीं कर पा रही हैं। विपक्षी झूठे आरोप लगाकर जातिवाद को बढ़ावा देने की कोशिश कर रही हैं। हमारी सरकार पारदर्शी और भ्रष्टाचारमुक्त है।
Download PDF

Related Post