राज ठाकरे के एकमात्र सिपहसलार मुसीबत में, धमकाना पड़ सकता है भारी

Download PDF
मुंबई- मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे के एक मात्र सिपहसलार मुसीबत में हैं। जुन्नर के मनसे विधायक शरद सोनवणे के खिलाफ सरकारी काम में हस्तक्षेप और गाली-गलौज करने का मामला दर्ज कराया गया है। इस संबंध में महिला सह पुलिस निरीक्षक ज्योति डमाले ने शिकायत दर्ज कराई है। मामला पुणे पुलिस से जुड़ा हुआ है। सोनवाणे के खिलाफ आलेफाटा पुलिस स्टेशन में आपराधिक मामला दर्ज कराया गया है।
विधायक सोनावणे लाव-लश्कर के साथ अपने करीबी भोंडवे की पैरवी करने पुलिस स्टेशन पहुंच गए। अपने पद की धौंस जमाते हुए उन्होंने टेम्पों छोड़ने का दबाव पुलिस सहायक पुलिस निरीक्षक ज्योति पर बनाया। ज्योति द्वारा दर्ज की गई शिकायत के मुताबिक सोनावणे ने टेम्पों छोड़ने के लिए उन्हें धमकाया और गालियां दी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस अधिकारी ज्योति ने अवैध तरीके से सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत वितरित किए जानेवाले गेहूं की खेप से लदे एक टेम्पो को पकड़ा था। यह मामला बीते गुरुवार का है। यह टेम्पों विधायक सोनावणे के करीबी योगेश भोंडवे बताया जा रहा है। लिहाजा विधायक सोनावणे लाव-लश्कर के साथ अपने करीबी भोंडवे की पैरवी करने पुलिस स्टेशन पहुंच गए। अपने पद की धौंस जमाते हुए उन्होंने टेम्पों छोड़ने का दबाव पुलिस सहायक पुलिस निरीक्षक ज्योति पर बनाया। ज्योति द्वारा दर्ज की गई शिकायत के मुताबिक सोनावणे ने टेम्पों छोड़ने के लिए उन्हें धमकाया और गालियां दी।
पुलिस अधिकारी ज्योति ने अपनी शिकायत में सरकारी काम में हस्तक्षेप और धमकी देने का आरोप लगाया है। सोनावणे के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 353, 509, 186. 294 के तहत मामला दर्ज किया गया है। मामले की आगे की जांच आर्थिक अपराध शाखा के पुलिस निरीक्षक दयानंद गावडे कर रहे हैं। अब देखना होगा कि पुलिस शरद सोनावणे के खिलाफ क्या कार्रवाई करती है। वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव में जीतकर आनेवाले सोनावणे मनसे के एकमात्र विधायक हैं।
Download PDF

Related Post