भाजपा- सेना का गठबंधन हुआ तो छोड़ देंगे साथ, राणे ने दिखाया तेवर 

Download PDF

आगामी चुनाव में उनकी शिवसेना प्रमुख राजनीतिक शत्रू पार्टी होगी

मुंबई- भाजपा के राज्यसभा सदस्य और महाराष्ट्र स्वाभिमान पार्टी के अध्यक्ष नारायण राणे ने कहा है कि यदि भाजपा और शिवसेना का गठबंधन हुआ तो वे भाजपा का साथ छोड़ देंगे। उन्होंने इस बात को लेकर नाराजगी जताई है कि राज्य मंत्रिमंडल में शामिल करने पर शिवसेना ने उनका विरोध किया था।  
कोकण में राणे का दबदबा रहा है। शिवसेना भी कोकण में अपना साम्राज्य बचाए रखने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाती रही है। भाजपा के पाले राणे जैसा कद्दावर नेता शामिल हो गया है। लिहाजा आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव में राणे विरूद्ध शिवसेना की टक्कर कोकण में नजर आ सकती है। 
राणे के मुताबिक  शिवसेना का मुझे  मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने पर कड़ा एेतराज था। शिवसेना सत्ता से बाहर होनेवाली थी। आगामी 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा-शिवसेना में गठजोड़ हुआ तो वे भाजपा का साथ छोड़ देंगे। राणे ने  साफ तौर पर कहा है कि आगामी चुनाव में उनकी शिवसेना प्रमुख राजनीतिक शत्रू पार्टी होगी।  भाजपा-सेना गठबंधन पर उनकी भूमिका पूरी तरह से स्पष्ट है। याद दिला दें कि शिवसेना पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे औेर  राणे में छत्तीस का आंकड़ा रहा है। कई बार सार्वजनिक मंचों से राणे साफ कर चुके हैं कि उद्धव के कारण ही उन्होंने शिवसेना छोड़ी थी। उद्धव की अगुवाई में शिवसेना अधोगति को चली गई है। अब पहले जैसी शिवसेना नहीं रही। इधर उद्धव भी  राणे पर कई बार हमले बोल चुके हैं। राणे और शिवसेना नेताओं में आरोप-प्रत्यारोप होता रहा है। शिवसेना के मंत्रियों ने भी  राणे को राज्यमंत्रिमंडल में शामिल करने पर एेतराज जताया था। 
 
कोकण में राणे का दबदबा रहा है। इधर शिवसेना भी कोकण में अपना साम्राज्य बचाए रखने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाती रही है। भाजपा के पाले राणे जैसा कद्दावर नेता शामिल हो गया है। लिहाजा आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव में राणे विरूद्ध शिवसेना की टक्कर कोकण में नजर आ सकती है। 
Download PDF

Related Post