#RanveerSing: डाक्टर्स ने खिलजी के चरित्र से बाहर निकला रणवीर को.

Download PDF

 

मुंबई, रणवीर सिंह अपने दर्शकों को चौंकाने का कोई मौक़ा नहीं चूकते. वे अपने हर नए किरदार में कुछ ना कुछ एक ऐसा तड़का लगाते हैं कि वो किरदार अविश्मरणीय हो जाता है. रणवीर का कहना है की ऐसा करने उन्हें बहुत संतुष्टि होती है, मगर ‘खिलजी’ उनके करियर सबसे कठिन चरित्र था.

सात घंटे की जोद्दोजहद के बाद रणवीर मानसिक और शारीरिक रूप से थक जाता था, उसके बाद उतनी ही शिद्दत से शूटिंग करना बहुत मुश्किल होता है

रणवीर को ख़िलजी का स्वरूप देने में मेकअप आर्टिस्ट को हर रोज़ 7 घंटे लगते थे. मेकप आर्टिस्ट प्रीतिशील सिंह ने रणवीर को ख़िलजी बनाने के लिए कृत्रिम श्रृंगार (प्रास्थेटिक मेकप) का प्रयोग किया. सात घंटे की जोद्दोजहद के बाद रणवीर मानसिक और शारीरिक रूप से थक जाता था, उसके बाद उतनी ही शिद्दत से शूटिंग करना बहुत मुश्किल होता है. रणवीर ने हिम्मत नहीं हारी मगर शूटिंग के 35 वें दिन रणवीर मानसिक रूप से टूट गया था. मगर उसने जल्दी ही ख़ुद पर क़ाबू पा लिया.

रणवीर के चरित्र के पीछे बहुत गहरा अध्ययन था. रणवीर ने ख़िलजी के चरित्र को इस तरह आत्मसात कर लिया था की फ़िल्म के बाद मानसिक चिकिस्तकों की सहायता लेनी पड़ी. अमिताभ बच्चन ने उन्हें ख़िलजी के किरदार को प्रभावशाली तरीके से निभाने के लिए एक हस्तलिखित नोट भेजा.

Download PDF

Related Post