भोपाल में संगीत का माहौल बनाए रखना ज़रूरी: असीम अली खान

Download PDF

उस्ताद रहमत अली खान संगीत समारोह आयोजित

भोपाल, उस्ताद रहमत अली खान समारोह हर साल की तरह इस साल भी किया गया. के पहले दिन पं. अभिक सरकार ने सरोद वादन और स्व. कुमार गंधर्व की बेटी कलापिनी कोमकली ने शास्त्रीय गायन की प्रस्तुति दी। संगीत की मधुर धुन से सजी इस शाम में कई राग-ताल को रसिक श्रोता देर तक सुनते रहे। अभिक कुमार ने सरोद वादन की कर्णप्रिय प्रस्तुति से की, जिसमें आलाप, जोड़-झाला के बाद राग जोग में तीन गतें पेश कीं। इसके बाद कलापिनी कोमकली ने राग जय जयवंती और चैती पेश किया।

सुश्री कलापिनी ने पत्रकारों से बात करते हुए बताया कि मां और बाबा चाहते थे कि मैं संगीत सींखूँ. शुरू में मे मेरी कोई रची नहीं थी. मगर माँ और बाबा के साथ संगीत समरोहो में आना-जाना लगा रहताथा. एक बार माँ का आदेश हुआ की मैं भी संगीत सींखूँ. इस तरह मैं पहले कानसेन बनी फिर तानसेन बनने की तरफ़ अपने क़दम उठाए.

उस्ताद रहमत खान साहब के सुपुत्र और समारोह के आयोजक असीम अली खान ने बताया की इस तरह के संगीत समारोहों का आयोजन हमारे शास्त्रीय संगीत तो जीवित रखने के लिए अति आवश्यक हैं. असीम ने संगीत प्रेमियों के उत्साहवर्धक समर्थन और सहयोग को सराहते हुए कहा की उन्हें आशा ही की भोपाल वासियों का और देशभर के संगीत प्रेमियों का प्यार और सहयोग इसी प्रकार मिलता रहेगा और भोपाल में संगीत का ये माहौल सदा बना रहेगा.

Download PDF

Related Post