#reliancejio : Implicated!!!

Download PDF

रिलायंस जिओ कंपनी से होगी राजस्व घाटे की वसूली

मुंबई, । अंबानी ग्रुप की रिलायंस जिओ कंपनी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। दरअसल परभणी जिले में कंपनी ने केबल बिछाने के लिए अवैध रूप से जमीन की खुदाई की है। इससे सरकार को राजस्व का नुकसान हुआ है। राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटिल ने गुरुवार को विधान परिषद में कहा कि इस नुकसान की भरपाई जिओ कंपनी से वसूली जाएगी। 

प्रश्नकाल में एनसीपी के अब्दुल्लाखान दुर्राणी और अन्य सदस्यों ने इस संबंध में सवाल पूछा था। दुर्राणी ने कहा कि परणभी में रिलायंस ने 600 किमी की खुदाई करके अवैध गौण खनिज का उत्खनन किया है। इससे सरकार का राजस्व डूबा है। इसी बीच विपक्ष के नेता धनंजय मुंडे ने कहा कि रिलायंस ठाणे, पुणे सहित कई जिलों में जमीन की खुदाई की है। इससे सरकार को करोड़ों रुपए के राजस्व का नुकसान हुआ है। इसके जवाब में पाटिल ने कहा कि परभणी में केबल बिछाने के लिए रिलायंस जिओ कंपनी की तरफ से जमीन की अवैध रूप से खुदाई करके सरकार को रॉयल्टी न देने के मामले की जांच से जुड़ी रिपोर्ट जिलाधिकारी को प्राप्त हो चुकी है। सरकार इस रिपोर्ट का अध्ययन करके संबंधित लोगों के खिलाफ कार्रवाई करेगी। साथ ही रिलायंस कंपनी से सरकार को हुए राजस्व नुकसान की वसूली की जाएगी।

राजस्व मंत्री पाटिल ने कहा कि जमीन खुदाई के लिए रॉयल्टी न वसूलने के बारे में केंद्र सरकार ने एक नया कानून बनाया है। इसके आधार पर राज्य सरकार ने नियम तैयार किया है। लेकिन परभणी में रिलायंस का मामला पुराना होने के कारण, उस पर कार्रवाई होगी। इस पर मुंडे ने कहा कि सरकार ने घाटे का बजट पेश किया है। सरकार के पास पैसे नहीं है। दूसरी ओर कंपनी सरकार निजी कंपनियों को फायदा पहुंचाने के लिए यह फैसला ले रही है। इससे सरकार के राजस्व का नुकसान हो रहा है।

Download PDF

Related Post