‘जाणता राजा’ ने फिर भरी सियासी उलेट-फेर करने की हुंकार !

Download PDF

शरद पवार ने भरा एनसीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए नामांकन 
मुंबई- बढ़ती उम्र और स्वास्थ्य को देखते हुए महाराष्ट्र की सियासत में सुगबुगाहट होती रही है कि अब पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री और एनसीपी के मुखिया शरद पवार को राजनीति से सन्यास ले लेना चाहिए। भाजपा नेता इसे लेकर ताना भी मार चुके हैं। परंतु जाणता राजा ने फिर एक बार देश की सियासत में फिर एक बार उलेट-फेर करने की हुंकार भरी है। पवार ने पार्टी के संगठनात्मक चुनाव में राष्ट्रीय अध्य़क्ष पद के लिए नामांकन भरा है।
एनसीपी के संवैधानिक नियमों के अनुसार हर तीन साल में पार्टी का चुनाव कराया जाता है और नए पदाधिकारियों का चयन किया जाता है। जाणता राजा के नाम से मशहूर शरद पवार ने फिर एक बार राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए नामांकन दाखिल किया है। 
 एनसीपी के संगठनात्मक चुनाव में नामांकन भरने की शनिवार को आखिर तारीख थी। हालांकि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर पवार का दोबारा चुना जाना तय माना जा रहा है। इसी महीने की 30 तारीख को संगठन के चुनावी परिणाम घोषित किए जाएंगे। एनसीपी के संगठनात्मक चुनाव प्रक्रिया की शुरूआत हो गई है। पवार ने नामांकन पत्र भरने की आखिरी तारीख यानी शनिवार को अपना पर्चा चुनाव अधिकारी और पार्टी के केंद्रीय महासचिव मास्टर पितांबर को सौंपा। इस अवसर पर पार्टी प्रदेशाध्यक्ष सुनिल तटकरे, सांसद माजिद मेमन, राष्ट्रीय प्रवक्ता नवाब मलिक, महिला प्रदेशाध्यक्ष चित्रा वाघ, कोषाध्यक्ष हेमंत टकले, महासचिव शिवाजीराव गर्जे, सचिव संजय बोरगे, प्रवक्ता संजय तटकरे, क्लाईड क्रास्टो, नगरसेवक राखी जाधव सहित वरिष्ठ नेता मौजूद थे।
एनसीपी के संवैधानिक नियमों के अनुसार हर तीन साल में पार्टी का चुनाव कराया जाता है और नए पदाधिकारियों का चयन किया जाता है। जाणता राजा के नाम से मशहूर शरद पवार ने फिर एक बार राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए नामांकन दाखिल किया है। भविष्य में पवार का उत्तराधिकारी कौन होगा, इस पर सवाल उठते रहे हैं। उनके भतीजे अजित पवार या फिर उनकी सांसद पुत्री सुप्रिया सुले। बहरहाल राज्य में राजनीति के चाणक्य माने जानेवाले शरद पवार ने फिर एक बार पार्टी की कमान संभालने का मन बनाया है।
इस दौरान पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष का भी चयन किया जाना है। मौजूदा समय में सुनिल तटकरे पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष हैं। इसी महीने की 29 ताऱीख को चुनाव को लेकर पार्टी पदाधिकारियों की बैठक होनेवाली है। इस बैठक में प्रदेश अध्यक्ष को लेकर फैसला लिया जाएगा। देखना दिलचस्प होगा कि प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी किसे सौंपी जाती है।
एनसीपी के संगठनात्मक चुनाव प्रक्रिया की शुरूआत हो गई है। पवार ने नामांकन पत्र भरने की आखिरी तारीख यानी शनिवार को अपना पर्चा चुनाव अधिकारी और पार्टी के केंद्रीय महासचिव मास्टर पितांबर को सौंपा। इस अवसर पर पार्टी प्रदेशाध्यक्ष सुनिल तटकरे, सांसद माजिद मेमन, राष्ट्रीय प्रवक्ता नवाब मलिक, महिला प्रदेशाध्यक्ष चित्रा वाघ, कोषाध्यक्ष हेमंत टकले, महासचिव शिवाजीराव गर्जे, सचिव संजय बोरगे, प्रवक्ता संजय तटकरे, क्लाईड क्रास्टो, नगरसेवक राखी जाधव सहित वरिष्ठ नेता मौजूद थे। एनसीपी के संवैधानिक नियमों के अनुसार हर तीन साल में पार्टी का चुनाव कराया जाता है और नए पदाधिकारियों का चयन किया जाता है। जाणता राजा के नाम से मशहूर शरद पवार ने फिर एक बार राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए नामांकन दाखिल किया है।
 इस दौरान पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष का भी चयन किया जाना है। मौजूदा समय में सुनिल तटकरे पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष हैं। इसी महीने की 29 ताऱीख को चुनाव को लेकर पार्टी पदाधिकारियों की बैठक होनेवाली है। इस बैठक में प्रदेश अध्यक्ष को लेकर फैसला लिया जाएगा। देखना दिलचस्प होगा कि प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी किसे सौंपी जाती है।

 

 

Download PDF

Related Post