सौर उर्जा से मिलेगी भारी खर्च से राहत – पाठक  

Download PDF
मुंबई। महाराष्ट्र के सभी किसानों को बिजली आपूर्ति करने के लिए महायुति सरकार ने सौर कृषि वाहिनी योजना की शुरु की है। इसके माध्यम से सभी किसानों को कृषिपंपों के लिए सौर उर्जा उपलब्ध कराई जाएगी। इससे किसानों को बिजली कटौती से राहत मिलेगी, साथ ही बिजली पर होनेवाले भारी भरकम खर्च से भी राहत मिलेगी। यह जानकारी राज्य विद्युत मंडल के निदेशक विश्‍वास पाठक ने मंगलवार को दी। 

 किसानों को बिजली कटौती से राहत

पाठक के अनुसार प्रदेश के चार ठिकानों पर सौर ऊर्जा निर्माण के लिए प्रायोगिक तत्व पर परियोजनाओं की शुरूआत की गई है। पहले चरण में 1200 किसानों को बिजली उपलब्ध कराई गई है। बिजली कटौती के आंकड़ों के मुताबिक किसानों को 8 घंटे व ग्राहकों को 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराना जरूरी है। पाठक ने बताया कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने जिन इलाकों को सूखाग्रस्त घोषित किया है, वहां के किसानों के बिजली बिल दर में 33 फीसदी की कमी की गई है। 
 
पाठक के मुताबिक सौभाग्य योजना के अंतर्गत प्रदेश के सभी इलाकों में बिजली पहुंचाने के काम को पूरा कर लिया गया है। केवल नंदुरबार और गडचिरोली के कुछ दुर्गम इलाकों में बिजली नहीं पहुंच सकी है। दिसंबर महीने के आखिर तक इन इलाकों में बिजली आपूर्ति करा दी जाएगी। पाठक ने बताया कि बिजली चोरी और बकाया राशि की वजह से मंडल को काफी घाटा उठाना पड़ा है। वर्ष 2014 में इसकी वजह से मंडल को 17 हजार करोड़ का राजस्व घाटा हुआ है। बहरहाल प्रदेश में 27 हजार मेगावाट बिजली उत्पादन की क्षमता है। कठिन परिस्थितियों में भी प्रदेश में बिजली की कमी नहीं होने दी गई है। 
Download PDF

Related Post