गौरक्षा के नाम पर हमले रोकने के लिए सख्त कानून बनाने की माँग

Download PDF

मुंबई में 27 को सपा की चेतावनी  रैली

मुंबई, समाजवादी पार्टी  ने मंगलवार,27 मार्च 2018  को केंद्र और राज्य सरकार की नीतियों के विरोध में मुंबई में चेतावनी  मार्च  निकालने का एेलान किया है। यह रैली नागपाड़ा के मस्तान तालाब से निकलेगी और विभिन्न इलाकों से होते हुए आजाद मैदान तक जाएगी, जहां रैली जनसभा में तब्दील हो जाएगी।
 
मुस्लिम और दलित समाज पर गौरक्षा के नाम पर हमले रोकने और इसके खिलाफ सख्त कानून बनाने ,मुस्लिम शिक्षा संस्थानों और सरकारी नौकरियों में आरक्षण देने की मांग.
 
सपा के प्रदेश अध्यक्ष अबू आसीम आजमी ने बताया कि केंद्र और राज्य सरकार के कारण वक्फ बोर्ड, हज कमेटी,उर्दू अकादमी और मौलाना आजाद फाइनेंसियल कार्पोरेशन में सीईओ का पद खाली है। इसे तत्काल भरने और सभी कमेटियों को गठित करने की मांग की गई है। मुस्लिम और दलित समाज पर गौरक्षा के नाम पर हमले रोकने और इसके खिलाफ सख्त कानून बनाने ,मुस्लिम शिक्षा संस्थानों और सरकारी नौकरियों में आरक्षण देने की मांग की गई है। चेतावनी रैली का आयोजन मस्जिदों,दरगाहों और कब्रस्तानों के विकास में सौतेले व्यवहार के खिलाफ किया गया है। पावरलूम उद्योग की बदहाली दूर करने और भिवंडी में टोरेंट पावर कंपनी की मनमानी का भी विरोध किया जाएगा। 
 
आजमी के मुताबिक मुसलमानों के लिए सच्चर कमेटी और महमदुर कमेटी की सिफारिशें लागू करने यूपी ,बिहार जैसे राज्यों से आने वाले ओबीसी को महाराष्ट्र में भी मान्यता देने की मांग की गई है। इसके आलावा महाराष्ट्र में संपूर्ण शराबबंदी लागू करने सहित कई अन्य मांगों को लेकर उक्त चेतावनी मार्च  का आयोजन किया गया है। 
Download PDF

Related Post