शिक्षकों की गुणवत्ता बढ़ाने की तत्काल जरूरत

Download PDF

एसडीएमसी, एसएरडी सीखने के अंतराल को भरने के लिए माडल शिक्षकों को  पुरस्कार दिए

Pritpal Kaur, 6D Consulting Editor

नई दिल्ली, 26-03-2018: दक्षिण दिल्ली नगर निगम ने सोमवार को 14 मॉडल शिक्षकों को  प्राथमिक शिक्षा प्रणाली में मौजूद सीखने के अंतराल से निपटने के लिए अभिनव शिक्षण तकनीक अपनाने के लिए पुरस्कार दिए। इन मॉडल शिक्षकों को सोसाइटी फॉर ऑल राउंड डेवलपमेंट (एसएडीआर), एनजीओ द्वारा प्रशिक्षित किया गया था

माइकल और सुसान डेल फाउंडेशन (एमएसडीएफ) ने हिंदी और गणित पर ध्यान केंद्रित करने के लिए विभिन्न शिक्षण तकनीकों का विकास किया। एसडीएमसी के मेयर कमलजीत सेहरवत ने इन शिक्षकों को पुरस्कार देते हुए कहा कि “शिक्षकों की गुणवत्ता बढ़ाने की तत्काल जरूरत है ताकि वे बदले में छात्रों की गुणवत्ता में सुधार कर सकें। इसके लिए आवश्यक है शिक्षकों के मनोबल को बढ़ावा दिया जाए ताकि बच्चों के  प्रदर्शन को बेहतर बना सकें।” उन्होंने कहा  कि अच्छा शिक्षक बच्चों को पढ़ाई में उत्कृष्टता दे सकता है।  सार्ड की शिक्षक शिक्षण योजना
ने इन शिक्षकों को अपने शिक्षण विधियों में सुधार लाने में मदद की है। ऑल राउंड डेवलपमेंट सोसाइटी (एसएडीआर) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुधीर भटनागर ने कहा कि इसे पअपनाने का उद्देश्य नवीन शिक्षण प्रथाएं अध्यापन-विज्ञान के परिप्रेक्ष्य से शिक्षकों की क्षमता का निर्माण करना था। उन्होंने बताया कि SARD ने देश में पहली बार शिक्षक ट्रेनर का एक अनूठा मॉडल पेश किया। उन्होंने कहा सार्द द्वारा बनाई गई
30 विशेषज्ञों की टीम ने 250 प्राथमिक विद्यालयों में कई सत्र आयोजित किए। प्राथमिक विद्यालय के शिक्षकों के 50 प्रतिशत स्कूलों में ये प्रशिक्षण आयोजित किए गए थे। “यह सुनिश्चित किया गया कि प्रशिक्षण की निरंतर पुनरावृत्ति हो ।ये प्रशिक्षक कमजोर कौशल और शिक्षकों के प्रति गलतफहमी जैसे मुद्दों को हल करने में सफल रहे। “एसडीएमसी  की शिक्षा समिति के अध्यक्ष  सुनील सहदेव ने एसएरडी और एमएसडीएफ के शिक्षण के प्रयासों की सराहना की और सुझाव दिया है कि गुणवत्ता में सुधार के लिए अधिक शिक्षकों की क्षमता का निर्माण किया जाना चाहिए।” प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षा एमएसडीएफ इंडिया के कंट्री डायरेक्टर गीता गोयल ने कहा कि फोकस बाल शिक्षा पर होना चाहिए जिससे कि बच्चे अधिक सशक्त हो।”सार्ड का ध्यान हमेशा के शैक्षणिक पहलुओं पर रहा है शिक्षा और बच्चों के मौजूदा शिक्षण अंतराल को रोकने के लिए अभिनव तरीकों का इस्तेमाल करने के लिए स्कूल छोड़ने वालों और स्कूलों में उच्च गुणवत्ता की शिक्षा सुनिश्चितकरने में भी सार्ड सफल रहा है।सार्ड विभिन्न राज्यों में  तरह तरह के मॉडल विकसित करने में सफल रहा है।
Download PDF

Related Post