ठग ऑफ़ इंडिया, बहुरूपियों से सावधान !!!

Download PDF

भटके विमुक्त सामाजिक संस्था के नाम पर पुलिस के भेष में घूम रहे हैं ठग. वो आपके ऑफ़िस में घुस कर चंदा उगाही करते हैं. पकड़े जाने पर ख़ुद को बहुरूपी नाथ समाज का बताते हैं. ऐसा ही एक हमारे ऑफ़िस में आ गया और हमने उससे धर दाबोचा। देखिए उसने क्या कहा. आप चौंक जाएँगे.

शिक्षा की कमी और ग़रीबी के कारण अब वो भीख माँगने के लिए मजबूर

बहुरूपिये का कहना था की उनका समाज महाराजा शिवाजी के समय से बहुरूपिये के रूप में लोगों का मनोरंजन करते आए हैं. ये लोग मूलतः ठाणे जिले के आदिवासी लोग हैं. शिक्षा की कमी और ग़रीबी के कारण अब वो भीख माँगने के लिए मजबूर हो गए हैं. बहुरूपिये का कहना था की उन लोगों ने सरकार से कई बार अपील की है की उनको और उनके बच्चों के लिए शिक्षा की व्यवथा कराई जाए ताकि उनके समाज का भी उत्थान हो सके. बहुरूपिये ने अपने व्यवहार के किए माफ़ी माँगी और आश्वस्थ किया की वो किसी को पुलिस की वर्दी का धौंस दे कर नहीं लूटेंगे.

Download PDF

Related Post