महाराष्ट्र में अब तक हुआ साढ़े दस करोड़ पौधरोपण 

Download PDF

मुंबई- प्रदेश में इस साल एक जुलाई से 31 जुलाई तक 13 करोड़ पौधरोपण करने का संकल्प राज्य सरकार ने लिया है। अभी तक राज्य में 10 करोड़ 99 हजार 122 पौधे रोपे जाने की जानकारी वित्त एवं वन मत्री सुधीर मुनगंटीवार ने दी है।

माय प्लांट मोबाइल के जरिए एक लाख 44 हजार 937 पौधे रोपे जाने का ऑनलाइन पंजीयन 

मुनगंटीवार के मुताबिक यह राज्य के पर्यावरण स्नेही नागरिकों के कारण संभव हो सका है। अभी तक पौधरोपण अभियान में 25 लाख से अधिक लोगों ने हिस्सा लिया है।  वन मंत्री मुनगंटीवार के अनुसार अभी तक वन विभाग की ओर से 6 करोड़ 42 लाख 1 हजार 634 पौधे रोपे गए हैं। वनेतर क्षेत्र की पौधरोपण संख्या 3  करोड़ 69 लाख 80 हजार 112 दर्ज हुई है। माय प्लांट मोबाइल के जरिए एक लाख 44 हजार 937 पौधे रोपे जाने का पंजीयन ऑनलाइन पद्धति से हुआ है।

मुनगंटीवार के मुताबिक पौधे आपके द्वार कार्यक्रम के माध्यम से 2 लाख 42 हजार 414 पौधे रोपे गए हैं।  इसीतरह हैलो फॉरेस्ट 1926 वन विभाग की इस हेल्पलाइन पर 9743 लोगों द्वारा पौधे रोपे जाने की जानकारी दर्ज कराई गई है। यह सभी जानकारी ऑनलाइन पद्धति से उपलब्ध हुई है। ऑफलाइन पद्धति से 70 लाख 20 हजार 282 पौधरोपण किए जाने की जानकारी वन विभाग को प्राप्त हुई है।

वन मंत्री ने बताया कि प्रदेश में सबसे ज्यादा पौधरोपण नांदेड़ जिले में हुआ है। नांदेड़ में पौधे रोपे जाने का आंकड़ा  68  लाख 64 हजार 514 है। नाशिक 61 लाख 14 हजार 297 की संख्या के साथ दूसरे स्थान पर है। यवतमाल 56 लाख 42 हजार 46 पौधरोपण के साथ तीसरे स्थान पर और चौथे क्रमांक पर चंद्रपुर है। चंद्रपुर में 54 लाख 79 हजार 477 पौधे रोपे गए हैं। पांचवे स्थान पर गडचिरोली जिला है, जहां 46 लाख 88 हजार 626 पौधे रोपे गए हैं। औरंगाबाद 43 लाख 86  हजार 515 पौधरोपण के साथ छठें स्थान पर है।

इसके बाद नंदुरबार ( 42 लाख 88 हजार 925 ), अहमदनगर  (41 लाख 37 हजार 350) और उस्मानाबाद (40 लाख 72 हजार 116) का नंबर आता है। लातुर, बीड, जलगांव, जालना, पुणे, हिंगोली और पालघर जिले में 30 लाख से अधिक पौधरोपण हुआ है। पौधे रोपने का काम उत्साह के साथ जारी है। वन मंत्री मुनगंटीवार ने विश्वास जताया कि 31 जुलाई तक प्रदेश में 13 करोड़ के लक्ष्य से भी ज्यादा पौधेरोपण होगा।

Download PDF

Related Post