आतंकवाद और कालेधन के खिलाफ एकजुट होने की अपील

Download PDF

मुंबई – उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने आतंकवाद और कालेधन के खिलाफ दुनिया भर के सभी देशों से एकजुट होने की अपील की है। साथ ही उन्होंने रेलवे, डिफेंस, बैंक, एज्युकेशन, सर्विस सेक्टर्स और मैनुफैक्चरिंग जैसे क्षेत्रों में एफडीआई सौ फीसदी लागू करने पर बल दिया है।

पार्टनरशिप समिट 2019 में उपराष्ट्रपति ने की दुनियाभर से गुहार

उपराष्ट्रपति शनिवार को मुंबई के जे डब्ल्यू मेरियट होटल में आयोजित दो दिवसीय पार्टनरशिप समिट 2019 के उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहे थे। उपराष्ट्रपति ने राइजिंग टू ग्लोबल ओकेशन के लिए न्यू इंडिया की संकल्पना को साकार करने की बात कही। उन्होंने वेल्थ इंडिया हेल्दी इंडिया पर जोर देते हुए कहा कि सरकार विकास, रिफार्म, पीस, ट्रांसफॉर्म पर ध्यान दे रही है। जन भावनाओं का ध्यान रख कर पॉलिसी व प्रमोशन पर फोकस किया जा रहा है। इंफ़्रा,मैनुफैक्चरिंग, एग्रीकल्चर, सर्विस सेक्टर्स की ग्रोथ से ही जीडीपी बढ़ेगी। देश तेजी से आर्थिक महाशक्ति बनने की ओर अग्रसर है। देश की जीडीपी दर 7.3 प्रतिशत है। सभी रेटिंग एजेंसी व वर्ल्ड फोरम ने भी भारत की विकास योजनाओं की सराहना की है।

उपराष्ट्रपति नायडू ने कहा कि जीएसटी दुनिया की आठ सबसे बेहतर टैक्सेशन प्रणाली है। इसे बेहतर तरीके से लागू किया गया है। लोगों को खुद के पैरों पर खड़ा करने का प्रयास किया जा रहा है। गरीबी को मिटाने का काम किया जा रहा है। उन्होंने आतंकवाद को लेकर कहा कि दुनिया को इसके खिलाफ लड़ाई लड़नी होगी। आंतक का कोई धर्म नहीं होता। उन्होंने कालेधन की रोकथाम के लिए भी सभी देशों के लोगों को सहयोगात्मक कदम उठाने की अपील की। ठोस कड़े कानून बनाने की जरूरत बताई। नेशनल पॉलिसी बनाने पर जोर देते हुए उपराष्ट्रपति ने डिजिटल इंडिया, स्टार्टअप इंडिया को रोजगार देनेवाला बताया। इस अवसर पर उन्होंने जल परिवहन, छोटे हवाई अड्डे के विकास पर जोर दिया साथ ही ग्रामीण विकास के लिए कई योजनाओं की जानकारी दी।

केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि न्यू इंडिया की संकल्पना के लिए डब्ल्यूटीओ की मदद से सभी देशों की ट्रेड ग्रोथ को बढ़ाने की जरूरत है। ग्लोबल ट्रेडिंग को प्रोत्साहित करना चाहिए। सीआईआई एक मंच उपलब्ध करा रहा है। वर्ष  2030 तक इंडिया आर्थिक शक्ति के रूप में खड़ा होगा। देश में  ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी बन जाएगी। इंडस्ट्रियल पालिसी को मजबूत किया जा रहा है। सुरेश प्रभु ने कहा कि देशों के बीच बॉन्डिंग होनी चाहिए। एग्रीकल्चर, सर्विस, मैनुफैक्चरिंग, ट्रेडिंग के लिए सरकार ठोस योजनाएं बना रही है। उन्होंने कहा इज ऑफ डूइंग बिजनेस को प्रोत्साहित किया जा रहा है। पड़ोसी देशों की तुलना में इस साल भारत मे सबसे ज्यादा एफडीआई आई है। निवेशकों का भरोसा बढ़ रहा है। प्रभु ने कहा कि देश के सभी राज्यों के सभी जिलों को विकसित किया जाएगा। डबल डिजिट जीडीपी को हासिल करने के लिए ग्रास रुट डेवलपमेंट पर ध्यान दिया जाएगा।

कार्यक्रम में साउथ कोरिया के ट्रेड मिनिस्टर किम ह्यून चोंग ने कहा कि हमारे देश में ट्रेड पॉलिसी सही तरीके से लागू की गई है। बिजनेस ग्रोथ के साथ ही पब्लिक बेनिफिट के लिए सरकार से बुनियादी मदद दी जाती है। जवाबदेही से विकास पर फोकस किया जाता है। इंडिया सरकार को भी दुनिया की फास्टेस्ट इकोनॉमी बनने के लिए ठोस योजना को लागू करना होगा। उद्योग मंत्री सुभाष देसाई ने कहा कि मुंबई देश की आर्थिक राजधानी है। आर्थिक धड़कन है। सर्विस सेक्टर व औद्योगिक विकास का द्वार है।

Download PDF

Related Post