पहलवानों पर मेहरबान हुई फडणवीस सरकार 

Download PDF
मुंबई –  सरकारी लाभ से उपेक्षित रहनेवाले पहलवानों के लिए फडणवीस सरकार ने दरिया दिली दिखाई है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भरोसा दिलाया है कि पहलवानों की जितनी मांगें हैं, उसके संबंध में सरकार सकारात्मक निर्णय लेगी।
तीन बार महाराष्ट्र केसरी और हिंद केसरी  बनाने वाले पहलवानों को पुलिस उपनिरीक्षक के बजाए पुलिस उप-अधीक्षक बनाने का फैसला सरकार ने लिया है। मुख्यमंत्री ने पहलवानों की सेवानिवृत्ति के लिए खेल विभाग को प्रारूप तैयार करने का निर्देश दिया है। पेंशन के लिए आयु मर्यादा की शर्त न रखते हुए प्रस्ताव तैयार करने का निर्देश मुख्यमंत्री ने संबंधितों को दिया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि तीन बार महाराष्ट्र केसरी और हिंद केसरी बनने वाले पहलवानों को पुलिस उपनिरीक्षक के बजाए पुलिस उप-अधीक्षक बनाने का फैसला सरकार ने लिया है। मुख्यमंत्री ने पहलवानों की सेवानिवृत्ति के लिए खेल विभाग को प्रारूप तैयार करने का निर्देश दिया है। पेंशन के लिए आयु मर्यादा की शर्त न रखते हुए प्रस्ताव तैयार करने का निर्देश मुख्यमंत्री ने संबंधितों को दिया है। मुख्यमंत्री ने भरोसा दिलाया कि पहलवानों की मांगों के संबंध में सरकार सकारात्मक निर्णय लेगी। इस अवसर पर विधायक श्री राहुल कुल, बाला भेगडे, प्रकाश आबीटकर, खेल आयुक्त सुनील केंद्रेकर, हिंदकेसरी दीनानाथ सिंह, पापालाल कदम, महाराष्ट्र केसरी दत्ता गायकवाड, राहुल कालभोर, बापू लोखंडे सहित संगठन के अन्य पदाधिकारी और पहलवान मौजूद थे।
महाराष्ट्र कुस्तीगीर संगठन के पदाधिकारियों ने मंगलवार को मंत्रालय में मुख्यमंत्री से मुलाकात की और पहलवानों को होनेवाली समस्याओं से अवगत कराया। पहलवानों की विभिन्न मांगों में बढ़ी पेंशन, एसटी बस में मुफ्त यात्रा, सरकारी गेस्टहाउस में सुविधा, मेडिकल सुविधा जैसी प्रमुख मांगें शामिल हैं। हिंदकेसरी दीनानाथ सिंह ने मांगों की जानकारी मुख्यमंत्री को दी।  मुख्यमंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र में कुश्ती की परंपरा रही है। प्रदेश के पहलवानों ने दुनियाभर में कीर्तिमान स्थापित किया है। कुस्ती को आगे बढ़ाने के लिए सरकार प्रयासरत है। पहलवानों की मांगों के संबंध में सरकार सकारात्मक है।
Download PDF

Related Post