दलित समाज के लिए मंत्री पद छोडऩे को तैयार- आठवले

Download PDF
मुंबई – केंद्रीय सामाजिक न्याय राज्यमंत्री रामदास आठवले ने दावा किया है कि देश में दलित एकता के लिए अगर प्रकाश आंबेडकर आगे आते हैं और नेतृत्व की जिम्मेदारी लेते हैं तो वह केंद्रीय राज्यमंत्री पद व भाजपा का साथ छोडऩे के लिए तैयार हैं।
आठवले ने कहा कि इस समय दलितों पर अत्याचार की जोरदार आवाज उठाई जा रही है और कांग्रेस की ओर से उनका इस्तीफा मांगा जा रहा है। रामदास आठवले ने कहा कि कांग्रेस सरकार में भी दलितों पर अत्याचार हो रहे थे, उस समय कितने मंत्रियों ने इस्तीफा दिया था। उन्होंने कहा कि दलितों की भलाई के लिए प्रकाश आंबेडकर को दलितों का नेतृत्व स्वीकार करना चाहिए, इसके लिए वह आरपीआई का अध्यक्ष पद भी प्रकाश आंबेडकर को देने के लिए तैयार हैं।
आठवले ने कहा कि उनका प्रयास रहेगा कि शिवसेना व भाजपा के बीच संबंध अच्छे रहें, इसलिए वह प्रधानमंत्री मोदी से बातचीत करने वाले हैं। ज्ञात रहे कि भीमा कोरेगाँव की घटना के बाद से दलितों को लेकर आंदोलन थमने का नाम नहीं ले रहा है.
आठवले ने कहा कि उनका प्रयास रहेगा कि शिवसेना व भाजपा के बीच संबंध अच्छे रहें, इसलिए वह प्रधानमंत्री मोदी से बातचीत करने वाले हैं। ज्ञात रहे कि भीमा कोरेगाँव की घटना के बाद से दलितों को लेकर आंदोलन थमने का नाम नहीं ले रहा है.
हाल ही में भाजपा द्वारा आरक्षण वापस लिए जाने की अफ़वाह के बाद देश भर में बंद का आयोजन किया गया था. इसमें कई लोगों की जाने गयी थी. प्रकाश अम्बेडकर ने सरकार का दलितों का दामन करने का आरोप लगाते हुए सारे दलित अमुड़ाय को अन्याय के ख़िलाफ़ एकजुट होने की अपील की थी. तभी से रामदास आठवले प्रश्नो के घेरे में थे. प्रकाश अम्बेडकर को आरपीआई का अध्यक्ष पद निमंत्रण दे कर उन्होंने अपने को प्रश्नों के घेरे से निकालने की कोशिश की है. अब देखना  ये है की प्रकाश आम्बेडकर की इस निमंत्रण पर क्या  प्रतिक्रिया आती है.
Download PDF

Related Post