मिलिंद देवड़ा ने लिखा चुनाव आयोग को पत्र 

Download PDF

 मुंबई। मनसे प्रमुख राज ठाकरे और भाजपा के बीच चल रहे वीडियो वार में कांग्रेस भी कूद गई है। कांग्रेस के मुंबई अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा ने चुनाव आयोग से लिखित शिकायत कर भाजपा के वीडियो और कांटेंट की पड़ताल करने की मांग की है। मिलिंद ने नियमों का हवाला देते हुए कहा है कि चुनाव आयोग पहले भाजपा के वीडियो और कांटेंट को अनुमति दे।

मनसे और भाजपा के वीडियो वार में कांग्रेस भी कूदी

मिलिंद के मुताबिक भाजपा  27 अप्रैल को राज ठाकरे द्वारा लगाए गए आरोपों को उन्हीं की शैली में जवाब देगी। इस तरह की खबरें मीडिया में आई हैं।  इस लिहाज से भाजपा द्वारा दिखाए जाने वाले वीडियो और कंटेंट की चुनाव आयोग की पूर्व अनुमति लेनी जरुरी है। 27 अप्रैल को शाम 6 बजे आखिरी चरण का चुनाव प्रचार समाप्त हो जाएगा। ऐसे में भाजपा की खबर को  इलेक्ट्रानिक मीडिया 27 अप्रैल की शाम को दिखाएगी , जबकि अखबरों में रविवार की सुबह खबर प्रकाशित होगी।

अगले दिन रविवार 28 अप्रैल को जनता खबर पढ़ेगी। चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद विपक्ष का कोई भी उम्मीदवार या नेता भाजपा के आरोपों का जवाब 27 अप्रैल को नहीं दे पाएगा। ऐसे में मीडिया में आनेवाले कांटेंटे की अनुमति लेना एमसीएमसी कमेटी से लेना आवश्यक है। मिलिंद ने चुनाव आयोग से इस बारे में भाजपा को निर्देश देने की अनुरोध किया है। मिलिंद ने कहा कि राज ठाकरे को जवाब देने के लिए भाजपा जो कुछ कहनेवाली है, उसके वीडियो व साहित्य में आपत्तिजनक या जनता को भ्रमित करनेवाले कांटेंट हैं तो उसकी चुनाव आयोग पहले पड़ताल करे। मिलिंद ने आरपी एक्ट की धारा 126 के हवाले से कहा कि यदि भाजपा के कांटेंट में कुछ आपत्तिजनक नहीं है तो चुनाव आयोग इस आशय का सर्टिफिकेशन दे, जो कि अनिवार्य है।

याद दिला दें कि बीते दिनों राज ठाकरे ने अपनी सभाओं में वीडियो क्लीप दिखाकर पीएम नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को कठघरे में खड़ा किया था। इसके जवाब में भाजपा ने वीडियो के सहारे राज ठाकरे की पोल खोलने की तैयारी की है। राज ठाकरे की पार्टी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ रही है, लेकिन वे जनसभाएं कर मोदी और शाह के विरोध में प्रचार कर रहे हैं। उन्होंने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को भी भाजपा के विरोध में प्रचार करने का निर्देश दिया है।

 

Download PDF

Related Post