मुख्यमंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री में ठनी 

Download PDF
मुंबई। पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष अशोक चव्हाण ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के उस बयान पर पलटवार किया है, जिसमें फडणवीस ने चव्हाण पर चुनावी सभाओं में भीड़ जुटाने के लिए किराए पर लोगों और नेताओं को लाने का आरोप लगाया था।
चुनावी सभाओं में भीड़ जुटाने के लिए किराए पर लोगों को लाने का आरोप
चव्हाण ने जवाबी हमले में कहा है मेरे खिलाफ नांदेड़ में उम्मीदवार नहीं मिल रहा था। इसलिए भाजपा को किराए पर उम्मीदवार लाना पड़ा है। एेसे में मुख्यमंत्री फडणवीस को नांदेड़ वासियों को उपदेश देने का नैतिक अधिकार नहीं है।
अशोक चव्हाण ने कहा कि नांदेड़ का विकास किसने किया, यह वहां की जनता जानती है। नांदेड़ की जनता मनपा चुनाव में किराए के नेतृत्व को पराजित कर चुकी है। इसकी पुनरावृत्ति लोकसभा चुनाव में भी होगी। चव्हाण ने कहा कि भाजपा देशवाशियों से जुड़े ज्वलंत मुद्दों को छोड़कर सेना के नाम पर वोट मांग रही है। पिछले पांच वर्ष में 15 हजार किसानों ने आत्महत्या की है। कर्ज माफी का पैसा किसानों को नहीं मिल सका है। पूरा महाराष्ट्र सूखे से जूझ रहा है। सरकार जलयुक्त शिवार योजना का ढिंढोरा पीट रही है। चार हजार टैंकर्स से जलापूर्ति किए जाने की बात कही जा रही है, फिर भी जनता को पानी नहीं मिल रहा है।
चव्हाण ने कहा कि भाजपा सरकार की अधिकांश योजनाएं विफल साबित हुई हैं। अशोक चव्हाण ने मुख्यमंत्री फडणवीस से जवाब मांगा है कि मेक इन इंडिया, मेक इन महाराष्ट्र, स्टार्ट अप इंडिया, मैग्नेटिक महाराष्ट्र, मुद्रा योजना जैसी कई योजनाओं की घोषणा करने के बाद भी देश में बेरोजगारी कम क्यों नहीं हो रही है? पंद्रह लाख रुपए खाते में जमा करने का क्या हुआ ? कितनी स्मार्ट सिटी बनी? हर साल दो करोड़ नौकरियां देने का क्या हुआ?   
 
Download PDF

Related Post