महाराष्ट्र बंद में मराठा आंदोलनकारियों ने फूंके कई वाहन

Download PDF

मुंबई- मराठा आंदोलनकारियों का गुरुवार सुबह से शुरू किया गया महाराष्ट्र बंद आंदोलन दोपहर तक हिंसक हो गया। कई वाहनों में तोड़फोड़ और आगजनी की गई। पथराव में कई पुलिसवाले घायल हुए हैं। कई शहरों में टायर जलाकर चक्का जाम किया गया और ट्रेन रोकी गई। मुंबई, ठाणे, नवी मुंबई बंद शामिल नहीं था।

जमकर की तोड़फोड़ और आगजनी, कई पुलिसवाले घायल, मुंबई, ठाणे और नवी मुंबई में राहत 

पुणे के चाकण सहित 7 शहरों की इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई थी । सोलापुर में भी मराठा आंदोलनकारियों ने महामार्ग पर धरना आंदोलन किया । कोंकण में सिंधुदूर्ग, रत्नागिरी जिले में आंदोलनकारियों ने हायवे पर धरना आंदोलन किया । लातुर में आंदोलनकारियों ने कांग्रेस विधायक त्र्यंबक भिसे की गाड़ी पर पथराव किया । इसी तरह अहमदनगर में वाहनों पर पत्थरबाजी में कई अधिकारी व 4 फायर ब्रिगेड के जवान घायल हो गए हैं। आंदोलनकारियों ने नासिक व इचलकरंजी में मिनी बस जला दी है। हिंगोली में आंदोलनकारियों ने बैलगाड़ी व हल आदि लाकर महामार्ग जाम कर दिया है। यहां टायर जलाकर पूरा हायवे बंद रखा गया है।

औरंगाबाद में सुबह से ही शांतिपूर्वक महाराष्ट्र बंद आंदोलन हुआ। क्रांति चौक पर सुबह से ही यहां भारी संख्या में आंदोलनकारी जमा होकर सरकार विरोधी नारेबाजी की। आंदोलनकारियों ने महामार्ग रोक दिया। मराठा क्रांति मोर्चा की बैठक में हिंसा न करने की गई थी, परंतु कई जगहों पर हिंसा हुई। मराठा क्रांति मोर्चा की बैठक में निर्णय लिया गया है कि 15 अगस्त तक मराठा आंदोलनकारियों पर दर्ज मोर्चे वापस न लिए जाने पर चूल्हा बंद आंदोलन किया जाएगा।

अहमदनगर जिले मेंं  मराठा क्रांति मोर्चा के आंदोलन में  विधानसभा के विपक्षी नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल भी सहभागी हुए। यहां मराठा आंदोलकों ने कई वाहनों की तोड़ फोड़ की । आंदोलनकारियों ने निजी वाहनों में आग लगा दी। घटनास्थल पर आग बुझाने पहुंचे फायरब्रिगेड के जवानों को भी मराठा आंदोलनकारियों के गुस्से का शिकार होना पड़ा।  पुलिस के जवान सुरक्षा व्यवस्था को बनाए रखने का प्रयास में मशक्कत करनी पड़ी। इसी प्रकार पुणे में मराठा आंदोलन में राकांपा नेता अजीत पवार भी शामिल हुए और उन्होंने आंदोलनकारियों के साथ महामार्ग पर बैठकर धरना आंदोलन किया। 

 
पुणे में भी आंदोलनकारियों का आक्रामक रूख देखा गया। एसटी, टीएमटी बस  परिवहन सेवा पूरी तरह से बंद रखी गई। आंदोलनकारियों ने बाजार, दुकानें सभी बंद करवा दी। सुरक्षा के यहां भारी मात्रा में इंतजाम किए गए थे।
Download PDF

Related Post