मटका माफिया के बुरे दिन #08: मेन बाजार मटका पर शनि का साया

Download PDF
  • पुलिस ने मेन बाजार मटका को दिखाए कई राज्य
  • हर ठिकाने पर लगा मेन बाजार मटका को झटका
  • गोवा, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, राजस्थान, गुजरात में उजड़ा मटका
  • मेन बाजार मटका पर पड़ गई शनि की तिरछी नजर

विवेक अग्रवाल

मुंबई, 25 जुलाई 2019

मायावी मटके का जिन्न सबके सामने आ चुका है। मेन बाजार मटका चलाने के लिए अब तक देश के कई राज्यों में जा चुका है। महाराष्ट्र, गुजरात, मध्यप्रदेश से होता हुआ फिर एक बार महाराष्ट्र में पहुंचा। यहां कोल्हापुर जैसे शांत इलाके में ऐसी गड़बड़ हुई कि मेन बाजार मटके पर शनि की टेढ़ी नजर पड़ गई लगती है।

गोवा में गड़बड़

उत्तरी गोवा एसपी श्रीमती चंदन चौधरी ने मेन बाजार मटका के उत्तरी गोवा के मोजरिम इलाके में एक बंगले में बने ठिकाने पर गोवा पुलिस ने देर रात छापामारी कर दी। छापे में पप्पू सावला के 29 सहयोगियों को पुलिस ने धर दबोचा। छापे के कारण रात को मेन बाजार के आंकडे नहीं खुले। जिसने भी रकम लगाई, सब डूब गई है।

पुलिस ने बताया कि मटके की काफी शिकायतें मिल रही थीं। मुखबिरों से सूचना निकाल कर उनके अड्डे का पता किया और पुलिस ने छापामारी की। छापामार दल के किसी सदस्य को पता न था कि कहां-क्यों छापा डालना है। मौके पर पहुंचे दस्ते को पता चला कि मटका पर कार्रवाई होगी। इससे मटका किंग पप्पू सावला तक सूचना न पहुंच सकी। उसके गोपनीय अड्डे का भंडाफोड़ हो गया। पुलिस ने दावा किया कि गोवा समेत के अन्य राज्यों में भी मेन बाजार मटके के संबंध हैं। यह गोवा के इतिहास की सबसे बड़ी मटका छापामारी मानी जाती है।

बंगले के मालिक रेजीनाल्डो डीकोस्टा को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया। 59 लाख रुपए नकद बरामद होने की सूचना मिली लेकिन इसकी पुष्टि अधिकारियों ने नहीं की। 54 सेलफोन, नोट गिनने की मशीन, लैपटॉप, केलकुलेटर भी मिले।

पुलिस ने दावा किया कि बंगले का मालिक भी मटका कारोबार में शामिल है। गोवा पुलिस की अपराध शाखा के एसपी कार्तिक कश्यप के मुताबिक गोवा पुलिस के इतिहास में पहली बार इतना बड़ा छापा मटका अड्डे पर हुआ। इसके चलते मेन बाजार मटका पूरी तरह बंद हो गया। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि सभी आरोपियों के खिलाफ गेंबलिंग एक्ट, आईटी एक्ट, आईपीसी की कई धाराओं में मामला दर्ज किया है।

आरोपियों के नाम रेजीनाल्डो डीकोस्टा, अंकुश परब, लक्ष्मीकांत गावड़े, गजानन मोर्जे, प्रवीण पार्सेरकर, एंजेल फर्नांडिज, लक्ष्मीकांत माहमाल, प्रताप सालगांवकर, एंथनी डीसूजा, विट्ठल गोलटेकर, दामोदर गोवेकर, जयेश शाह, छोटूलाल लालन बताए।

पुलिस ने दावा किया कि गोवा अड्डा जयेश शाह और छोटूलाल लालन चला रहे थे। मटका माफिया प्रकाश सावला उर्फ पप्पू सावला ने गोवा में अपना अड्डा बनाया था। ये दोनों उसके मैनेजर थे। पप्पू सावला के खिलाफ देश भर में सैंकड़ों आपराधिक मामले दर्ज हैं।

पप्पू सावला के पीछे गोवा पुलिस भी काफी समय तक पड़ी रही। गोवा छापमारी के दौरान पप्पू का भाई जयेश भी वहीं था, लेकिन पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा।

ठाणे में ठोंका

काशीमीरा रोड पर होटल फाउंटेन के पीछे बने फार्म हाऊस पर सन 2018 में मुंबई पुलिस ने छापामारी की थी। मेन बाजार मटका चलाने वाला 28 आरोपियों को पुलिस ने रंगे हाथों धर दबोचा था। इस मामले में पप्पू सावला का नाम भी सामने आया था।

ठाणे एसएसपी के विशेष दस्ते ने 13 अगस्त 2018 की रात साढ़े 11 बजे ठाणे के घोड़बंदर इलाके में बने एक गेस्ट हाऊस में चल रहे मटका अड्डे पर छापा कर 28 लोगो को गिरफ्तार किया। छापामारी की जानकारी काशीमीरा पुलिस को भी नहीं मिली। इसके कारण रात में और अगली सुबह भी मटका आंकड़े नहीं खुले। छापा पड़ते ही प्रकाश उर्फ पप्पू सावला भूमिगत हो गया।

इससे मटका कारोबारियों में दहशत छा गई। मोबाईल फोन, लैपटॉप, नकदी समेत काफी सामान बरामद हुआ। पप्पू सावला का खास सिपहसालार और मैनेजर पीयूष भी पुलिस के हत्थे चढ़ा। गोवा छापामारी के बाद पप्पू सावला ने कारोबार फिर घोड़बंदर रोड, ठाणे में कच्ची सड़क पर बने गेस्ट हाऊस में अड्डा बनाया था। यह गेस्ट हाऊस चाईना ब्रिज के करीब बना है।

गोवा पुलिस ने जिन 29 आरोपियों को गिरफ्तार किया था, सबको जमानत मिल गई, वे मुंबई लौट गए। नए लोगों के साथ मेन बाजार का काम पप्पू सावला ने ठाणे से शुरु किया था।

सूत्रों के मुताबिक पप्पू ने खुद आंकड़े खोलने के बदले अपने भाई जयेश शाह को सौंप दिया था। ठाणे छापामारी के दिन भी जयेश ने ओपन के आंकड़े खोले थे। अमूमन जयेश शाह बोरीवली के गोपनीय अड्डे से आंकड़े खोलता रहा है।

मटका मध्यप्रदेश में

मध्यप्रदेश के धामनोद शहर गया। वहां से धार जिले के पीथमपुरा गया। वहां से इंदौर गया। वहां से भी उठ कर मऊ पहुंचा।

मेन बाजार मटका कारोबार जून 2019 के पहले सप्ताह तक मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर से सटे सैनिक छावनी शहर मऊ से चल रहा था। यहां मुरली अग्रवाल उर्फ़ मुरली मऊ ने बाजार मटका कारोबार का संचालन कर रहा था। इसकी जानकारी एसपी को मिली। उन्होंने मुरली मऊ के खिलाफ कार्रवाई की।

मटका मलकापुर, महाराष्ट्र में

मेन बाजार मटका महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले में मलकापुर चला गया।

जयेश ने सलीम मुल्ला को कोल्हापुर में मटका चलाने के लिए कहा था। इसकी जानकारी कोल्हापुर पुलिस को मिली। इसी के आधार पर छापामारी हुई। पप्पू सावला का मैनेजर जयेश शाह और शैलेष मणियार को पुलिस ने एक लक्जरी बस में सफर करते हुए धर दबोचा। उन्हें मोका के तहत गिरफ्तार किया है।

मटका किंग पप्पू सावला के मुंबई, बोरीवली (प) के अड्डे पर भी पुलिस ने छापा मारा। पप्पू सावला का मेन बाजार सट्टा मटका बुलढाणा के मलकापुर से चल रहा था। जून 2019 के पहले सप्ताह में मेन बाजार का कामकाज मलकापुर पहुंचा था।

मेन बाजार मटका पहुंचा नागपुर

पप्पू की गिरफ्तारी के बाद मटका कारोबार भाई जयेश सावला और बेटे विरल सावला के साथ मिल कर निलेश नागपुर और पप्पू अमरावती ने नागपुर से ऑपरेशन शुरु किया।

अहमदाबाद में मेन बाजार

अहमदाबाद में मेन बाजार मटका कुछ समय के लिए पहुंचा था। यहां का एक ताकतवर मंत्री ने पप्पू को पूरा संरक्षण दिया। अहमदाबाद के दरियापुर इलाके में मेन बाजार का मुख्यालय पप्पू और पंकज ने बनाया था।

उस मंत्री की गुजरात से बिदाई के बाद नए मंत्री ने कह दिया कि किसी कीमत पर गरीबों का खून चूस रहे मटके को संरक्षण नहीं देगा। जब पुलिस का दबाव बना तो यहां से भाग निकले। इसके बाद गुजरात में मेन बाजार उजड़ गया।

नाशिक में मेन बाजार

मटका संचालकों ने कुछ समय के लिए मेन बाजार का कामकाज नाशिक में भी रखा था। नाशिक में भी इस मटके का कारोबार एक स्थानीय दबंग नेता को पप्पू सावला ने सौंपा था। वह इस मटके से होने वाली कमाई के कारण जल्द ही हवा में उड़ने लगा। उसने सबको चुनौतियां देनी शुरू कर दीं। पुलिस और बड़े नेताओं को भी आंख दिखाने लगा। इसके कारण पुलिस उसके पीछे पड़ गई और नाशिक से भी मेन बाजार को कारोबार समेटना पड़ा था।

जारी: पप्पू सावला का पूरा पंचनामा

Hashtags

#Matka #Main_Bazar #Pappu_Savla #Viral_Savla #Satta #Batting #Mumbai #Police #Kolhapur #Gujrat #Vivek_Agrawal #Crime #Mafia #Arun_Gwali #Hirji_Savla #MCOCA #Kalyan_Bazar #Worli_Bazar #Jaya_Bhagat #Salim_Mulla #Shama_Mulla #Attack #मटका #मेन_बाजार #पप्पू_सावला #विरल_सावला #सट्टा #जुआ #मुंबई #पुलिस #कोल्हापुर #गुजरात #विवेक_अग्रवाल #अपराध #माफिया #अरुण_गवली #हीरजी_सावला #मोका #कल्याण_बाजार #वरली_बाजार #जया_भगत #सलीम_मुल्ला #शमा_मुल्ला #हमला

Download PDF

Related Post