महाराष्ट्र में नहीं होगी दारूबंदी 

Download PDF
मुंबई- प्रदेश में शराबबंदी लागू करने की अटकलों के बीच आबकारी मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने स्पष्ट किया है फिलहाल राज्य में दारूबंदी करने का सरकार का कोई विचार नहीं है। हालांकि उन्होंने साफ किया है चंद्रपुर जिले में लागू की गई दारूबंदी वापस नहीं ली जाएगी। यह जानकारी उन्होंने मंगलवार को नागपुर विधानसभा में दी।
फिलहाल दारूबंदी का सरकार का कोई विचार नहीं है। महाराष्ट्र के बाहर से अवैध दारू राज्य में आ रही है। इस पर नियत्रंण लाने के लिए राज्य सरकार ने ग्राम रक्षक दल का कड़ा कानून बनाया है। उत्पादन शुल्क विभाग ने दारूबंदी के लिए और अवैध शराब के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है। वर्ष 2017-18 में 507 आपराधिक मामले दर्ज किए गए हैं। चंद्रपुर में दारूबंदी के लिए सरकार सख्त उपाय योजना बना रही है।
विधायक विजय वडेट्टीवार ने ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के तहत महाराष्ट्र में शराब पर प्रतिबंध लगाने का मुद्दा उपस्थित किया था। वडेट्टीवार ने आरोप लगाया कि अन्य राज्यों से गैर-कानूनी तरीके से दारू लाकर राज्य में बेची जा रही है। चंद्रपुर में बड़े पैमाने पर शराब मिलती है। बीते सोमवार को एक करोड़ 34 लाख रुपए की शराब पकड़ी गई थी। इसके जवाब में बावनकुले ने साफ किया कि फिलहाल दारूबंदी का सरकार का कोई विचार नहीं है। महाराष्ट्र के बाहर से अवैध दारू राज्य में आ रही है। इस पर नियत्रंण लाने के लिए राज्य सरकार ने ग्राम रक्षक दल का कड़ा कानून बनाया है। उत्पादन शुल्क विभाग ने दारूबंदी के लिए और अवैध शराब के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है। वर्ष 2017-18 में 507 आपराधिक मामले दर्ज किए गए हैं। चंद्रपुर में दारूबंदी के लिए सरकार सख्त उपाय योजना बना रही है।
बावनकुले ने अनुरोध किया कि राज्य की सभी ग्राम पंचायतें ग्रामरक्षक दल का गठन करें। ग्रामरक्षक दल के गठन के लिए सरकार हरसंभव सहयोग देगी। इस कानून में शिकायत मिलते ही 24 घंटे के अंदर कार्रवाई करने का प्रावधान है। बिना जनता का सहयोग लिए अवैध दारू पर नियंत्रण नहीं पाया जा सकता। इसलिए ग्रामरक्षक दल का गठन करना बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि चंद्रपुर, वर्धा और गडचिरोली में दारुबंदी के लिए अपराध शाखा का हौसला बढ़ाने के लिए राज्य उत्पादन शुल्क और पुलिस विभाग में अधिकारियों एवं कर्मचारियों के 22 पद मंजूर किए गए हैं। चंद्रपूर में 24.54 करोड़ रुपए, वर्धा में 18.96 करोड़ रुपए और गडचिरोली में 8.85 करोड़ रुपए के माल जब्त किए गए हैं। वर्ष 2017-18 में इन तीन जिलों में कुल 25898 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।
Download PDF

Related Post