नाला सफाई को लेकर भाजपा और शिवसेना में ठनी

Download PDF
मुंबई- भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना में मुंबई के नाला सफाई के काम को लेकर ठन गई है। भाजपा के मुंबई अध्यक्ष आशिष शेलार ने मुंबई महापौर विश्वनाथ महाडेश्वर के उस बयान पर कड़ी आपत्ति जताई है, जिसमें उन्होंने बारिश में मुंबई के जलमग्न होने पर सरकार को जिम्मेदार ठहराने की बात कही है। शेलार ने तीखा तंज कसते आरोप लगाया है कि नाले सफाई के काम में धांधली जारी है।
– महापौर ने कहा मुंबई डूबी तो सारी जिम्मेदारी सरकार की, शेलार का पलटवार, कहा जिम्मेदारियां झटक रही शिवसेना –
भाजपा प्रदेश मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए शेलार ने महापौर पर निशाना साधा। शेलार ने कहा कि मुंबईकरों के लिए नाला सफाई अहम मुद्दा है। इसकी जवाबदारी से भागा नहीं जा सकता। लेकिन करके दिखाने का दावा करनेवाले अब भाग रहे हैं। शेलार ने आरोप लगाया कि नाला सफाई के काम में पारदर्शिता नहीं है। काली सूची में डाले गए ठेकेदारों को फिर से काम दिए गए हैं। उन्होंने सवाल उठाया कि जो कचरा निकाला जाता है उसका वजन कहां किया जाता है। रसीद नहीं दी जाती। क्या कचरा डंप करने की जगह का सीसीटीवी कैमरे से शूटिंग होती है। ठेकेदार के नाम एवं उसकी जानकारी का फलक नहीं लगाया गया है। उन्होंने सवाल उठाया कि काम की जानकारी क्यों सार्वजनिक नहीं की जाती।  शेलार ने कहा कि नाला सफाई के काम को लेकर वे पिछले महीने से प्रयास कर रहे हैं। मुंबई मनपा अधिकारियों के साथ एक बार और रेलवे अधिकारियों के साथ दो बैठके हो चुकी हैं। वे नाला सफाई का काम देखने के लिए दो बार दौरा कर चुके हैं। उसकी रिपोर्ट भी उन्होंने मीडिया के माध्यम से सार्वजनिक की है। हमारा काम अभी भी जारी है जबकि वे अपनी जिम्मेदारियां को झटक रहे हैं।
शेलार के मुताबिक हाल में मनपा आयुक्त अजोय मेहता ने एक बैठक बुलाई थी। पहले लगा कि यह बैठक मानसून पूर्व तैयारियों और नाला सफाई के काम का जायजा लेने के लिए बुलाई गई है। हालांकि बाद में पता चला कि यह बैठक टैरेस पर रेस्तरां और रात्र में होनेवाली पार्टियों को लाइसेंस कैसे मिले, इस मुद्दे को लेकर बुलाई गई है। टेरेस के होटल पर मानसून सेड डालने की चिंता है, परुंतु बारिश में मुंबई जलमग्न न हो इस पर कोई ध्यान नहीं है।
क्या कहा महापौर ने  
महापौर विश्वनाथ महाडेश्वर ने कहा था कि इस मानसून में मुंबई डूबती है, तो इसकी पूरी जवाबदारी राज्य सरकार की होगी। इसके लिए मुंबई मनपा जिम्मेदार नहीं होगी।
राज्य सरकार ने विकास के नाम पर जगह-जगह खढ्ढे खोद रखे हैं। मुंबई में मेट्रो का काम चल रहा है। मेट्रों के काम से मुंबई जलमग्न हुई तो पूरी जिम्मेदारी म्हाडा और संबंधित प्राधिकरणों की होगी। महापौर ने नाला सफाई के काम का जायजा लेने के बाद बताया कि अभी तक 50 फीसदी काम पूरा हुआ है। आनेवाले दिनों में सफाई का काम 70 प्रतिशत पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि निर्धारित समय में काम पूरा नहीं हुआ, तो संबंधित ठेकेदारों पर कार्रवाई की जाएगी।
Download PDF

Related Post