सूर्य परियोजना पर समिति की रिपोर्ट मिलने के बाद अगली कार्यवाही

Download PDF

मुंबई- जल संसाधन मंत्री गिरीश महाजन ने मंगलवार को विधान परिषद में कहा कि  पालघर के सूर्या बांध के पानी का आरक्षण और  सिंचाई क्षेत्र  में कमी न करते हुए पेयजल का आरक्षण तथा सूक्ष्म सिंचाई पद्धति अपनाकर सिंचाई क्षेत्र में वृद्धि आदि के बारे में समिति की सिफारिशें मिलने के बाद अगली कार्यवाही की जाएगी।

राज्यपाल सी. विद्यासागर राव की अध्यक्षता में हुई एक बैठक में सूर्या परियोजना से सिंचाई क्षेत्र में न्यूनतम कमी लाने की आवश्यकता के लिए चर्चा हुई थी, जिसमें जल वितरण प्रणाली में सुधार, एकीकृत ट्यूब जैसी नवीनतम तकनीक का उपयोग, सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली और ड्रिप सिंचाई तथा वैकल्पिक जल संसाधन बनाने की आवश्यकता पर विस्तार से बातचीत की गई थी । 

सदस्य रविंद्र फाटक ने इस संबंध में ध्यानाकर्षण सूचना दी थी। इसके जवाब  में महाजन ने कहा कि राज्यपाल सी. विद्यासागर राव की अध्यक्षता में हुई एक बैठक में सूर्या परियोजना से सिंचाई क्षेत्र में न्यूनतम कमी लाने की आवश्यकता के लिए चर्चा हुई थी, जिसमें जल वितरण प्रणाली में सुधार, एकीकृत ट्यूब जैसी नवीनतम तकनीक का उपयोग, सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली और ड्रिप सिंचाई तथा वैकल्पिक जल संसाधन बनाने की आवश्यकता पर विस्तार से बातचीत की गई थी ।

इस बैठक में, विषय का अध्ययन करने के लिए विभिन्न विभागों के सचिव के स्तर पर एक समिति गठित की गई थी। समिति की रिपोर्ट छह महीने के भीतर उपलब्ध होगी और परियोजना के संबंध में और कार्यवाही की जाएगी। सदस्य आनंद ठाकुर, प्रवीण दरेकर और अन्य ने सवाल पूछा ।

Download PDF

Related Post